jagate raho

Just another weblog

365 Posts

933 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12455 postid : 1109235

मोदी एक युग पुरुष

Posted On: 22 Oct, 2015 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

modiनरेंद्र मोदी नाम है, युग पुरुष तू जान,
है भारत को दिया हुआ कुदरत का वरदान,
कुदरत का वरदान, देखो प्रगति ध्वजा उठाए,
मुश्किल से मुश्किल वाधा भी राह से उसकी हट जाए !
कहे “रावत” कविराय सुनो, विपक्ष की दशा निराली,
वर्षों से जमा था काला धन हुआ मिनटों में खाली !! 1

हर दम करता काम वो करता नहीं विश्राम,
“मंजिल” गरीबों की खुशी दिल में हैं “श्रीराम” !
दिल में है श्री राम, सर पर माँ का हाथ,
बल बुद्धि देने के लिए है “पवन पुत्र” का साथ !
कहे कवि सुनो श्रोताओ आई संतों की टोली,
जुग जुग जिओ नरेंद्र मोदी भारत माता बोली !!२

दानवीर हैं मोदी जी वेतन करते दान,
कर्मवीर बनकरके, करते जन कल्याण !
करते जन कल्याण विपक्ष समझ न पाए,
किस मिट्टी का बना है मोदी समझ न उनकी आए !
तन मन धन अर्पित देश पर, गर्दिश में भ्रष्टाचारी चोर,
काला धन तो ले लिया है अब गले फांसी की डोर,
असुर निशाचर हत्यारे भागो हो गई भोर,
अब बचने नहीं पाओगे गली गली में शोर !!३

हर गरीब का बैंक में खुलवाया अकाउंट,
देख देख के विपक्ष ने पिया जहर का घूँट,
पिया जहर का घूँट, फिर भी चैन न आया,
चिंता से निंद्रा भागी, पेन किलर फिर खाया !
लालू नीतीश का गठ बंधन स्वार्थ का इसमें धागा,
विकास प्रेमी हर विहारी इसे तोड़ के भागा ! ४

प्रगति रथ पर नरेंद्र मोदी, अचंभित है इंसान,
किस मिटटी से इसे बनाया, उलझन में भगवान !
उलझन में भगवान, पर मोदी सबसे आगे,
सारे विपक्ष ने एक साथ ही अपशब्दों के गोले दागे !
कहे रावत कवि राय मोदी तो पिछ्ला कूड़ा हटा रहे हैं,
सेल्फ मेड धर्म निरपेक्ष शक्तियां पीछे पीछे भाग रहे हैं !!5

किस मिट्टी का बना है मोदी आदम है हैरान,
कैसे मैंने इसे बनाया सोच रहा भगवान !
सोच रहा भगवान दुष्ट दरिंदे घबराए,
शैतान भी सोच रहा भारत छोड़ के जांए !
धर्म निरपेक्ष शक्तियां हताश नील गगन को देख रहे हैं,
मोदी के रहते कुछ न मिलेगा तगमें अपने फेंक रहे हैं !! ६

मोदी जी के सूट की कहानी, हरेन्द्र की जुवानी !

मुस्कान सदा चेहरे पर रहती, गाली विपक्ष की खाता है,
धन्य हो नरेंद्र मोदी जी, माँ भारत के दिल में रहता है !
कुछ पर्ची वाले नेता हैं भयभीत सदा वे रहते हैं,
जनता के बीच में जाकर भी मोदी मोदी कहते हैं !
एक सस्ती सी सूट जो पहनी सूटेड बूटेड कहलाया,
एक नव सीखे नेता ने, रैली में जनता को बतलाया !
कुबेर बने विपक्षी नेता अब कंठी माला फेर रहे हैं,
राम नाम तो भूल गए मंदिर पंडित को घेर रहे हैं !
बल बुद्धि विद्या का धनि था मोदी अपने लक्ष्य को पाया,
जन सेवक बन करके ही वह ऊंची कुर्सी पर आया !
आंसू गरीब के पोछें मोदी ने अपने आंसू छिपा लिया,
इसीलिए जनता ने उसको अपने दिल में बसा लिया !
पन्द्रह हजार उपहार सूट पर मीडिया ने उपहास किया,
स्वयं दलाली ली करोड़ों में मोदी ने उन्हें माफ़ किया !
अपना सारा वेतन भत्ता उपहार मिले जो राशि में,
जनता की सेवा में दान किया पूरे भारत और कासी में !
मोदी जैसा देव पुरुष ६६ सालों में धरा धाम पर आता है,
कर्म, धर्म और दानवीर बन धरती को स्वर्ग बनाता है !
प्रस्तुति हरेन्द्रसिंह रावत

मोदी जी के ऊपर ये दिलचस्प कविता मुझे व्हाट्सएप पर राजेन्द्र सिंह जी ने भेजी थी !

स्वर्ण मुकुट में हीरे मोती , दलित बहिन को भाते,
आजमखान मुलायम खातिर लंदन से बग्गी लाते,
सुन्नी रेड्डी तिरुपति में सोना अतुल चढ़ाता है,
लालू के “दामाद” तिलक पर खर्च करोड़ों आता है !
फाइव स्टार होटलों में आफिस थरूर का चलता था,
ए राजा के कमरे में सोने का दीपक जलता था !
दत्त तिवाड़ी नारायण तो खर्चीले होते थे,
महामना सुखराम नोट बिस्तर ऊपर सोते थे !
ओ विशाल आनंद भवन की दिन चर्या बतलाती थी,
नेहरू जी की टोपी तक पेरिस से धूल कर आती थी !
लेकिन भारत में एक शख्स है जो बीसों घंटे काम करे’
राष्ट्र प्रयाण के जागरण में तनिक नहीं विश्राम करे !
नहीं तो वो खाने देता नहीं खुद खाता है,
अपना जन्म दिवस भी मोदी सैना बीच मनाता है !
गंगा का बेटा है तन से मन में पीर पराई है,
चाय बेचकर मेहनत करके अपनी मंजिल पाई है !
किन्तु मीडिया को गरीब का जीना नहीं सुहा पाया,
एक सूट जो साधारण था लाखों का जा बतलाया !
मगर देश की जनता ने सम्पूर्ण सफल फल दे डाले,
उसी सूट की सच्चाई पर रुपए करोड़ों दे डाले !
इसीलिए अब हम कहते हैं लेके हाथ रहेंगे जी,
तब भी उनके साथ खड़े थे अब भी साथ रहेंगे जी !!

modi ek yug purush

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

jlsingh के द्वारा
October 30, 2015

वाह वाह चाहा जी, बड़ी अच्छी कविता आपने बनाई है, पर कुछ अपनों ने ही मोदी की विपत्ति बढ़ायी है मोदी जी सभी के उम्मीदों पर खड़े उतरें यही प्रार्थना है. सत्य की रह में बादहए आती हैं पर विजय तो सत्य की ही होती है…

    harirawat के द्वारा
    October 30, 2015

    जवाहर बेटे, बहुत अरसे के बाद आपकी टिप्पणी आई, दिल खुश हुआ ! मोदीजी एक लौह पुरुष है और कोई भी उनके खिलाफ गाली गलौज अपशब्द इस्तेमाल करता है, बोलने वाले को ही संकट में डाल देता है ! मोदी जी को कुछ भी नहीं करना पड़ता, उनके खिलाफ षडयंत्र रचने वाले चक्र्व्यू में अपने कर्मो से ही फंस जाते हैं ! प्रत्यक्ष को प्रमाण की जरूरत नहीं ! शुभ कामनाओं और चाचा के आशीर्वाद के साथ !

Shobha के द्वारा
October 26, 2015

श्री रावत जी कई बार प्रतिक्रिया दी परन्तु आपके ब्लॉग में जा नहीं रही

Shobha के द्वारा
October 24, 2015

श्री रावत जी सही कटाक्ष

Shobha के द्वारा
October 23, 2015

श्री रावत जी इससे पहले आपकी कविता पर आपको प्रतिक्रिया दी थी आपके ब्लॉग में कुछ समस्या है

    harirawat के द्वारा
    October 30, 2015

    शोभाजी नमस्कार, आपकी सारी प्रतिक्रियाएं स्पैम होगई थी ! अब सारी मुझे मिल चुकी हैं ! आपने हर कदम पर मेरे लेखों पर सार्थक टिप्पणी देकर मुझे ऊर्जा दी है ताकि मैं और अच्छा लिखने का प्रयास करूँ ! बहुत बहुत धन्यवाद !


topic of the week



latest from jagran