jagate raho

Just another weblog

380 Posts

961 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12455 postid : 1329532

चट पटी ख़बरें कुछ इधर की कुछ उधर की

Posted On: 11 May, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

चलो सबसे पहले चलते हैं सुप्रीम कोर्ट में फैसले के इन्तजार में, तीन तलाक पर ! २०१४ के संसद चुनाव में ज्यादादातर मुस्लिम महिलाओं ने तीन तलाक से पीड़ित होकर मोदी सरकार को मजबूत करने के लिए भाजपा को तीन लड़के और एक लड़की थी, दिए, इस आशा और भरोषे के साथ की ‘मोदीजी’ उनके सिर पर लटकी तीन ‘तलाक’ नामक घातक तलवार को देश के कानूनों के आधार पर ही, सदा के लिए हटा देंगे ! अब तो बहुत से मुसलमान पढ़े लिखे नवजवान, जानी मानी साहित्यकार हस्तियां, इस काले धब्बे को हटाने के लिए सामने आगये हैं ! बताओ ये कौन सा धार्मिक क़ानून है की एक मजदूर, कुछ कमाता धमाता नहीं है, उसकी पत्नी दूसरों के घर काम करके उसके और उसके बच्चों को पालती है एक दिन उसे उसकी बीबी ने, ‘शराब’ पीने के लिए पैसे नहीं दिए, उसने पहले तो उसे निर्दयता से मारा-पीटा तीन तलाक की आड़ में महिलाएं और फिर तीन तलाक कहकर घर से बाहर निकाल दिया ! ये तो केवल एक मामला प्रकाश में आया है, इसके अलावा लाखों की तायदाद में होंगी मुस्लिम महिलाएं, जो इस तीन तलाक की ज्वाला में जल गयी होंगी या फिर तीन तलाक के डर के शाए में सांस भर रही होंगी ! भारतीय सविधान सभी नागरिकों को समाज में बराबरी का हक़ देता है, तो फिर उन्हें जिलत की जिंदगी जीने के लिए मजबूर क्यों होना पड़ता है ?

अरे, हम मुसलमान महिलाओं की बातें करते हैं यहां तो हिन्दुओं में अनडिक्लियर्ड इससे भी बड़ा एक तरफ़ा पत्नी को घर छोड़ने का तुगलकी फरमान निकल जाता है ! मेरे अपने ही भाई बन्दों में एक ऐक्स एमपी के लाडले की शादी किसी उस जमाने की ऊंची हस्ती में की गयी थी (लड़की के बाप उस जमाने के दूसरे इंग्लैंड रिटर्न वकील थे) ! उनके प्यारे प्यारे तीन लड़के और एक लड़की भी हो गयी थी ! शाहजादे प्रॉपर्टी में किस्मत आजमा रहे थे ! पापा की कोटद्वार में काफी जमीन थी, बेटे ने उस जमीन को बेचा, फिर और खरीदा, प्लाट बना बना कर बेचे !अच्छी कोठी, बाग़ बगीचों से सजा सजाया लान सहित रहने के लिए बनाया गया ! फिर उसे भी बेच दिया ! इन्हीं दिनों इनके रास्ते में एक कुँवारी लड़की आगयी, (इन्ही के मकान में अपनी माँ के साथ किराए पर रहती थी) रसिक दिल तो थे ही दिल दे बैठे ! अब बीबी के साथ बात बात पर घर में रोज झगड़ा, मार पीट होने लगी ! एक दिन तो इंतहा ही होगया, पत्नी ने अपने भाई की शादी के लिए १५०/- रुपए जोड़ तोड़ करके रखे थे, शाहजादे ने ताला तोड़ कर पैसे निकाल लिए, और चोरी का उलटा इल्जाम लगाकर पत्नी की बुरी तरह से पिटाई कर दी ! बड़ा लड़का १५-१६ साल का रहा होगा, उसे अपनी माँ का पीटना सहन नहीं हुआ, उसने अपनी माँ और भाइयों के साथ बाप का घर सदा के लिए छोड़ दिया ! स्वयं लाटरी बेच बेच कर अपना और माँ भाइयों का गुजारा किया ! शहजादे को अब आजादी मिल गयी,पत्नी को तलाक दिया और नयी पत्नी घर ले आया ! नयी पत्नी से दो बेटे हुए, उन्हें अच्छी पढ़ाई लिखाई कराई, लेकिन समय की आंधी के साथ वे भी गृह कलह के कारण घर छोड़ कर चले गए ! यहां पर कुछ अलग हुआ, इंसान की सोच में कुछ वैज्ञानिक नयी खोजों का असर हुआ, इस बार बेटे ने पिता को चांटा जड़ दिया, (मेरी माँ को क्यों मारा) ! आज वे सब कुछ बेच बाच कर एक नया मकान बनाकर बिल कुल अकेले रहते हैं, दिल की धड़कन कभी कभी बढ़ जाती है ! वैसे बैठे ठाले वे अपने मन को सरस्वती अर्चना से जोड़ने में लगे हैं ! हिन्दुवों में ऐसे ही बहुत से और भी किस्से समय की गर्द की भूल में दबी पडी होंगी ! लेकिन कोई अपने दुष्कर्मों को लाख छुपाए छुप्पा नहीं सकता, गर्द आंधी में उड़ जाता है छिपी हुई असलियत आज नहीं तो कल बारह आही जाती है !

पाक की नापाक हरकत, कायर और नपुंसकों जैसा व्यवहार
उम्र फयाज नामक फौजी नया नया कमीशन लेकर पहली बार सेना से छुट्टी लेकर अपने घर काश्मीर सोपिया आए ! वे दिसम्बर २०१६ को जानी मानी रेजिमेंट दी राजपुताना राइफल्स’ के सैनिक अधिकारी बने थे ! ०८ जून को वे २३ साल पुरे करने वाले थे ! गाँव के नजदीक वे बिना हत्यार व् किसी अंग रक्षक के एक शादी में गए थे, पाकिस्तानी पालतू आतंकियों ने उन्हें किडनैप करके फिर उनकी ह्त्या कर दी ! ये अब इंतिहा होगई है, इन कमीनों, नपुंसकों, कायरों और दैशतगर्दों के नापाक इरादों को भारतीय जवान कभी फली भूत नहीं होने देंगे, हमारा एक सैनिक अगर एक सिर गंवाता है पाकिस्तान को बदले में सौ सिर कटवाने पड़ेंगे और वे सिर पाकिस्तानी सैनिक टुकड़ियों से ही कटवाए जाएंगे !

रस्सी जल गयी तो क्या हुआ, मीडिया में अपना चौखटा भी तो दिखना चाहिए

अखलेश कुमार पूर्व मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश तथा एसपी के सरगना मुलायमसिंह जी के लाडले, गद्दी छूटते ही कुछ संतुलन खो बैठे हैं, इन श्रीमान जी को अभी तक ये भी पता नहीं है की देश का सैनिक चाहे वो आर्मी, नेवी या वायुसैनिक हो, वह केवल और केवल भारत का सैनिक कहलाता है न की यूपी, बिहार, उड़ीसा, महाराष्ट्र, उत्तराखंड,हिमांचल, गुजरात पंजाब या किसी अन्य प्रदेश का कहा जाता है ! वैसे भी अखलेश जी का जनरल नॉलेज कमजोर लगता है, उन्हें अभी तक यह भी पता नहीं है की पाक इंडिया वारों में देश के सारे राज्यों के सैनिकों ने हिस्सा लिया था और उनमें से कही गुजरात में पैदा हुए सैनिक भी शदीद हुए थे !! अखलेश ! अर्द्ध ज्ञान जी का जंजाल बन जाता है, अब तो अपनी चोंच बंद ही रखो !

आप में पंजाब में भी भगदड़
मीडिया खबरों पर यकीन करें तो आप पार्टी की पंजाब शाखा में भी दरारें पड़ गयी है, केजरीवाल के खिलाफ ‘हाय हाय’ के नारे गूंजने लगे हैं ! पंजाब के आधे से ज्यादा नव निर्वाचित विधायक भाजपा से संपर्क साध रहे हैं, मौका लगते ही छलांग मारकर भाजपा दाबदे में मुंह छिपाना चाहते हैं ! कल तक साही खानदान के जवाईं राजा वाड्रा पर भ्रष्टाचार के तीखे तीखे वाणों से निशाना साधने वाले ‘केजरीवाल’ अब बिलकुल बेवश और लाचार बनकर सोनिया जी के खेमे में शरण लेने की सोच रहे हैं !

इंसान की नज़रों में कोई बड़ा छोटा हो सकता है, नीली छत्रीवाले के यहां सब बराबर हैं ! विजय माल्या कल तक अरबों की सम्पति का मालिक था, हिंदुस्तान के सारे बैंकों से कर्जा ले लेकर उनकी किश्त न चुकाने के कारण भाग कर इंग्लैण्ड चला गया ! अगर कोई मध्यम श्रेणी या निम्न श्रेणी का युद्द्योग्पति या कर्मचारी होता तो एयर पोर्ट के अंदर उसे जाने की इजाजत नहीं होती, क्योंकि उसके चहरे पर साफ़ अंकित होता है की ये कितने ऊँचे रस रसूक और ऊंची नाक वाला उद्योगपति व् व्यापारी है ! लेकिन अब तो उच्चतम न्यायालय का आदेश आ चुका है विजय माल्या जी को सुप्रीम कोर्ट में हाजिर होना ही पडेगा, नहीं तो को कुछ बचा है वह भी चला जाएगा ! क़ानून के हाथ बहुत लम्बे होते हैं ! देखा
प० बंगाल के हाईकोर्ट के हाईकोर्ट जज को ६ महीने के लिए जेल में डाल दिया गया है ! आज के समाचार खत्म हुए,कल फिर हाजिर होंगे नयी चिंगारियों के साथ !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rameshagarwal के द्वारा
May 15, 2017

जय श्री राम हरेन्द्र जी आपकी पोस्ट पढ़ कर बहुत अच्छा लगता गर्म गर्म खबरों का विश्लेषण अच्छा लगता वैसे देश की हालत बिगड़ने के लिए कुछ राजनेता जिन्हें देश से ज्यादा कुर्सी प्यारी है गलत लोगो का समर्थन करने जे एन यू पहुँच जाते.अखिलेश ऐसे सुलझे नेता गंदी राजनीती के लिए सैनिको भी जाती प्रान्त के चश्मे से देखते.शर्म आती है जनता इन्हें सबक सिखाएगी..इस सुन्दर लेख के लिए बधाई.

    harirawat के द्वारा
    May 16, 2017

    रमेशजी नमस्कार ! सकारात्मक टिप्पणी के लिए साधुवाद ! अखलेश जैसे राजनेता सीएम बने की वे मुलायमसिंह जी के सुपुत्र थे, नहीं तो कायदा क़ानून आज भी नहीं सीखा !

harirawat के द्वारा
May 11, 2017

पढ़े या न पढ़े उजड़ती नजर जरूर दाल दें !


topic of the week



latest from jagran