jagate raho

Just another weblog

386 Posts

967 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12455 postid : 1329925

सूर्य मन्त्र

Posted On: 13 May, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

सूर्य मन्त्र

ओउम विश्वानि देव सवितर्दुरितानि परा सुव !

यद् भद्रंतन्न आसुव !!

अर्थ = हे सूर्य देव, आप मेरे सभी पापों को दूर कीजिए और जो कुछ भी
मेरे लिए कल्याण कारी हो उसे मुझे प्राप्त कराइए !!

ओउम विश्वानि देव सवितर्दुरितानि परा सुव !

यद भद्रंतन्न आसुव

अर्थ = हे सूर्य देव, आप मेरे सभी पापों को दूर कीजिए और जो कुछ भी
मेरे लिए कल्याण कारी हो, उसे मुझे प्राप्त कराइए !! (हरेंद्र रावत – द्वारका मास्स २४/१०)

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

harirawat के द्वारा
May 14, 2017

इस मन्त्र को जरूर याद कीजिए, बाहर भीतरी सुधिकरण कीजिए ! धन्यवाद


topic of the week



latest from jagran