jagate raho

Just another weblog

380 Posts

961 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12455 postid : 1333804

अजीबो गरीब खबरें

Posted On: 10 Jun, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

इंसान कभी भी बड़ा नहीं होता, वह हर पल ऊपर वाले की कृपा दृष्टि से जीता है और इस संसार से बाय बाय करके चला जाता है ! जो उसे धरती पर उत्तरता है वही उसके जाने की व्यू रचना तैयार करके रखता है ! एक सैनिक अधिकारी का १४ साल का बालक एक पेड़ के नीचे खड़ा था, वह अक्षर उस छायादार वृक्ष के नीचे आकर कुछ पल सेकिंड खड़ा हो जाता था ! और वह एक ऐसा मनहूस दिन आया जिस दिन, जैसे ही वह लड़का पेड़ के नीचे खड़ा हुआ, पेड़ उखड़ कर उसके ऊपर गिर गया, लड़का भगवान् को प्यारा होगया लेकिन अपने परिवार वालों को कभी न भरने वाला जख्म दे गया ! प्रत्यक्ष दर्शियों का कहना है, की पेड़ की मिट्टी हट गयी थी और पेड़ की पकड़ धरती पर कमजोर होगई थी ! पकड़ एक ही दिन में कमजोर थोड़ी हुई, लेकिन जवानी की सीढ़ियों में कदम रखने वाले उस बालक को कुदरत ने पेड़ को माध्यम बनाकर अपनी गोद में समा लिया ! भगवान् उसकी आत्मा को स्वर्ग में शांति और विश्राम दे तथा परिवार वालों को इस सदमें को सहन करने की शक्ति दे !

चीन आज विश्व में आर्थिक और सैनिक मजबूती में बड़ी तीब्रता से आगे बढ़ रहा है लेकिन जहां तक दिल में करुणा और दया का भाव है उससे वह कोशों दूर है ! कल ही चीन के कुछ जानी मानी हस्तियों का मनोरंजन करने के लिए, अपने को सभ्य कहने वाले चिड़िया घर के रख रखाव वालों ने एक जिन्दे गधे को बघेरों (हायना ) के बाड़े में फेंक दिया ! भूखे बाघ उस असमर्थ निर्बल प्राणी पर चिपके और उसे नोच नोच कर आधे घंटे में उस जीवित गधे का नामों निशान हीं मिटा दिया ! (सहारा ०७ जून २०१७ बुधवार !)

“भूखी बकरी ने दो हजार के ताजे ताजे नोट खा लिए ”
यकीन नहीं आ रहा है ! मुझे भी नहीं आया, लेकिन समाचार राष्ट्रीय सहारा ०८ जून २०१७ (वीरवार) आखिरी पेज १६ पर फड़फड़ाकर मेरा ध्यान अपनी और खींच रहा था सो पढ़ लिया ! खबर उत्तर प्रदेश कन्नौज की है ! सिलुआपुर गाँव के किसान सरवेशकुमार पटेल ने एक सुन्दर नाक नक्शे वाली बकरी पाल रखी है ! परिवार के बड़े छोटे सभी उस पर बड़ा स्नेह लुटाते हैं ! बकरी भी प्यार के बदले जो कुछ भी परिवार के सदस्यों से मिलता है सप्रेम उदर ग्रस्त कर देती है ! सर्वेश कुमार को अपना मकान नए सिरे से बनवाना था, इसके लिए वह हर महीने कुछ पैसे बचत खाते में डालता रहता था ! बचत खाते में ६४ हजार रुपए जैसे ही जमा हुए, उसने बैंक से पैसे निकालकर अपनी पेंट की जेब में रखे और घर आगया, साथ ही मकान बनाने के लिए मिस्त्री को भी साथ ले आया ! घर आकर उसने अपनी पेंट निकाल कर आँगन में बंधे हुए बकरी के सामने डाल दी और स्वयं बाथ रूम में नहाने के लिए चला गया ! वह हफ्ते में एक दिन नहाता था ! जब आप सात दिन में एक दिन नहाते हैं तो समय तो लगेगा ही, किसान सर्वेश्वर को भी बाथ रूम में एक घंटा से ज्यादा लग गया ! जब वह नहा कर बाहर निकला तो यह देखकर उसे चक्कर आगया की उसकी प्यारी सी बकरी ने उसके दो दो हजार के ३२ हजार के बिलकुल करारे नए नोट चबाचबाकर उदर ग्रस्त कर दिए हैं ! मकान बनाने का इरादा रोकना पड़ा ! अब परिवार के सारे सदस्य उस घडी को कोष रहे हैं जिस घड़ी यह सुन्दर नाक नक़्शे वाली प्यारी से बकरी इस घर में आई थी ! पाठक अपनी प्रतिक्रया देना न भूलना !

सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज करने !!

आजकल राहुल गांधी भाजपा वालों से टक्कर लेने के लिए महा पुराण, गीता, भागवत, रामायण और महाभारत पढ़ रहे हैं और साथ ही मध्य प्रदेश में जाकर किसानों को भड़काकर वहां अराजकता, क़ानून और व्यवस्था की धज्जियां उड़ाने में जलती ज्वाला में और डीजल और पेट्रोल डाल रहे हैं, अगले राष्ट्रपति चुनाव में चारा चोर लालू जैसे भ्रष्ट राजनीतिज्ञों के साथ हाथ मिलाकर विपक्ष को मजबूत बनाने का स्वप्न सजा रहे हैं ! अभी तो कालाधन विदेशी बैंकों में करवटें ले लेकर कालेधन वालों के नाम पर काली स्याही का टीका लगा रहा है !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

harirawat के द्वारा
June 13, 2017

पाठकों से अपेक्षा है उनकी टिप्पणी की !


topic of the week



latest from jagran