jagate raho

Just another weblog

400 Posts

978 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12455 postid : 1330415

कुछ इधर की कुछ उधर की

Posted On: 2 Sep, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

टी वी पर चलने वाले सीरियल
आज के दिन देश पहले ही पाकिस्तानी आतंकवाद, मावोवादियों के घृणित कुकृत्यों और काश्मीर के अलगाववादियों के पत्थर वाजों से
जूझ रहा है ! ऊपर से रोज चोर डकैत हत्यारे, किडनैपर, रेपिष्ट अफराधियों की संख्या में इजाफा कर रहे हैं ! बाकी कसर टीवी पर चलने वाले सीरियल नवजवानों को किडनैपिंग, चोरी-डकैती तथा अनैतिक कुकर्मों की नयी नयी टेक्निक सीखा कर पूरा कर रहे हैं ! क्या केंद्र व् राज्य सरकारें इन क्रिमिनल से शनी हुई सीरियलों को बंद नहीं करा सकती है ?

लालूजी फिर आयकर विभाग के हत्थे चढ़ गए,
अपनी लड़की-दामाद के नाम हजार करोड़
की प्रॉपर्टी जोड़कर ! नीतीशजी अब अब तो जागो,
भ्रष्टाचारियों से अपनी पवित्र इमेज बचाओ ! जो मवेशी
चारा तक खा सकता है वह किसी हद तक गिर सकता है ! जो घोटालों में
लालू जी के साथ थे वे नीतीश कुमार का साथ छोड़ गए, उन्हें लगा
ये नीतीश कुमार न खुद खाएगा न खाने देगा !
नीतीश जी आप सही रास्ते पर चल रहे हैं, दुष्ट भ्रष्ट एक
एक करके पार्टी से निकल रहे हैं और कमाल देखिए कांग्रेस के १४
ईमानदार विधायक नीतीश जी से जुड़ गए !

पाकिस्तान झूठा नंबर वन, झूठ का सहारा लेकर
कुलभूषण जैसे भारत के ईमानदार को भी बिना किसी कसूर के,
फांसी की सजा सुनाता है ! अब तो ऊपर वाले से प्रार्थना इतनी है,
की कुलभूषण सकुशल अपने देश वापस आजाय !

जब भी किसी पूर्व कांग्रेसी मंत्री या उसके परिवार के खिलाफ,
भ्रष्टाचार कुकर्मों में लिप्त होने के लिए, सीबीआई की रेड पड़ती है,
बयान आता है, ये सब कुछ “मेरी आवाज दबाने के लिए केंद्र सरकार कर
रही है” ! पी चिदंबरम के लाडले ने पापा के वित्तमंत्री होने के दिनों का खूब
फायदा उठाया था, अपने साथी को करोड़ों का फायदा करवाकर !
जब खा रहे थे बकर बकर तो, सरकारी माल कहने का स्वाद आरहा था, अब जेल
जाने में क्यों घबरा रहे हो ?” होने दो कोर्ट में दूध का दूध और पानी
का पानी ! अरे भैया अब सबर करो, बाफर्स केस फिर खुल गया है,कांग्रेस ने अपने
कार्यकाल में इसे सुप्रीम कोर्ट में नहींजाने दिया था, मई २०१४ तक मन मोहनसिंह
पीएम थे, थे क्या जबरदस्ती बिठा रखे थे, वे अपनी आँखों से देख नहीं सकते थे, अपने मुंह से
अपनी बात बोल नहीं सकते थे ! कानों से सुन नहीं सकते थे ! हायकमानं जो लिखकर देता
वही पढ़ दिया करते थे ! जलती बलती खबर बिहार के १४ कांग्रेसी विधायकों ने पार्टी छोड़ कर
नीतीश कुमार जी की पार्टी ज्वाइन कर ली है ! वे हाइकमाण्ड से परेशान थे ! देखते जाओ और
भी बहुत सारे पार्टी छोड़ने की ताक में हैं !

जिस थाली में खाया उसी में छेड़ कर दिया !
भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति ने जाते जाते अपनी जवान से अपनी औकात दिखा ही दी !
अगर इन्हें भारत में रहना अच्छा नहीं लग रहा था तो उपराष्ट्रपति गरिमा पद छोड़ कर
पहले ही चले जाना था !

चरित्रवान, इंसानों में महान राष्ट्रपति मिला जो श्री अटल जी की खोज थी, वे थे
“एपीजे अब्दुल कलाम” ! पांच साल पहले अपने हाथ में एक ब्रीफ केस लेकर
राष्ट्रपति भवन में आए, इज्जत, ईमानदारीऔर सविधान के पति वफादारी निभाते हुए,
उसी ब्रीफ केस के साथ बड़ी इज्जत के साथ राष्ट्रपति भवन से गए ! उनके बाद के राष्ट्रपति जी
भबन से १०-१२ भारी भरकम ५ टन ट्रकों में सामान भरर ले गए ! एपीजे जी जैजैकार करने
का आज भी मन करता है ! आज वे हमारे बीच नहीं हैं, खुदा को भी अच्छे इंसानों की जरुरत पड़ती है !
लगता है वे आज भी जहनत में भी राष्ट्रपति के कुर्सी की शोभा बढ़ा रहे हैं !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rameshagarwal के द्वारा
September 2, 2017

जय श्री राम भाई हरेन्द्र जी बहुत सुन्दर विचार.हमारे नेता इतने गिर गए की भ्रष्टाचार उनके खून में रंग गया है.जब लूटा तब नही पता चला अब चिल्लाते की सरकार बदले की भावना से काम कर रही.लेकिन मोदीजी सबको ठीक कर देंगे.लालू ऐसे को मीडिया भी हीरो बना देती है.अब देखिये सोनिया के दामाद भी जेल जायेंगे भ्रष्टाचार के खिलाफ लडाई शुरू हो गयी आप के सुन्दर प्रस्तुति के लिए साधुवाद .

    harirawat के द्वारा
    September 12, 2017

    रमेशजी नमस्कार ! आपने ब्लाक में आकर अपनी सकारात्मक टिप्पणी देकर मुझे मानसिक बल दिया, इसके लिए धन्यवाद ! शभ कामनाओं के साथ !


topic of the week



latest from jagran