jagate raho

Just another weblog

400 Posts

978 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12455 postid : 1354137

एक नजर केवल एक इधर बी डालिए

Posted On: 27 Sep, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

ये देव भूमि ये कर्म भूमि, जहां श्रद्धा के झरने झरते हैं,
मयूर पंखी लिए हाथ में, पाखंडी पाखण्ड करते हैं !
असली सन्यासी आज कहीं नज़रों में नहीं आते हैं,
ढोंगियों की तरह सड़कों पर बन्दर नहीं नचाते हैं !
नकली बाबा असली चोला, हैं हिस्ट्री सीटर चेले,
अंधे भक्त उल्लू बनते, जब त्रिवेणी पे लगते मेले !
जनता की नस पकड़े पकड़े ये पौंछा पकड़ लेते हैं,
जन्म मरण का भय दिखाकर उन्हें बेचैन बना देते हैं !
आश्रम बना तुलसी बनकर रामायण सुना देते हैं,

शब्द जोड़ो या न जोड़ो शब्द जुड़ जाते हैं,
बिन बुलाए मेहमान खुद ही चले आते हैं,
जुड़े शब्द लबों में आकर गीत बन जाते हैं,
मेहमान डाइनिंग टेबल पर जम जाते हैं !

मोदी जी हर राजनीतिज्ञ से बिलकुल अलग हैं, उनके परिवार
में एक माँ है वह भी गुजरात में रहती है अलग ताकि बेटे को
शासन कार्यों में बाधा न पड़े, वे देश के लिए जीते हैं और देश
की सवा में तन मन से लगे हैं ! वे आज अगर भारत के प्रधान
मंत्री है तो अपनी बुद्धि कौशल से ! वे राजनीति के अब तक के
सबसे सबल खिलाड़ी उभर कर आए हैं ! देश ही नहीं विदेशों में भी
उनहोंने अपने हुनर की पताका फहरा दी ! देश की इस नाजुक
घडी में ऐसे ही उच्चस्तर के कुशल, शांत, ईमानदार राजनीतिज्ञ
की जरुरत थी ! Long live Modiji !

ओउम ऐं ह्रीं क्लीं चौमुंडाए विचे नम:

अच्छी शुरुआत है, देश की सत्ता से परिवारवाद खत्म करने का !
अखिलेश ने पापा की सल्तनस को अपनी जागीर बना लिया,
पापा का हाथ सर से हटते ही यूपी से परिवार का विघटन शुरू
हो जाएगा ! इधर राहुल बाबा भी सोनिया के हटते ही
परिवारवाद से कांग्रेस को मुक्ति दे देगा ! जय हिन्द

ये वामपंथी जो रूस- चीन से जुड़े हैं और देश की अखंडता पर
समय समय पर आघात करते रहते हैं, उन्हें इनके स्थाई जगह जेल में
डाल देना चाहिए, न रहेगा बांस न बजेगी बांसुरी ! वामपंथ देश के
अंदर पनपता हुआ कैंसर है जिसको समय रहते नहीं मिटाया गया तो
धीरे धीरे सारे वदन में फ़ैल सकता है !

इनकी जो लीडर थी उसका बायोडाटा देखकर सब पता लग जाएगा की
कौन लड़की उच्च परिवार की है और कौन निम्न वर्ग से ! वे खुद स्वीकार
करती हैं की वे वामपंथियों के प्रभाव में आगई थी !

ये पाकिस्तान जैसे दुश्मन की चाल है जिन्होंने रोहिंग्या जैसे आतंकियों का संगठन बनाकर
भारतजैसे शांतिप्रिय, धर्मनिरपेक्ष देश पर मानवता का बोझ डालकर इन रोहिंग्या को
शरणार्थी बनाकर भारत भेजने की योजना बनाई थी, और यहां के मानवता के
व् धर्निर्पेक्ष का नकली मुखौटा पहिने वामपंथी उन्हें देश में पनाह देने की वकालत करते हैं,
उन्हें वोटर बनाकर अपना उल्लू सीधा करने को !

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran